10 best घर में रहो शायरी इन हिंदी

घर में रहो शायरी इन हिंदी

1- Maut Ke Halaat Hai, Na Kisi Safar Me Raho,
Logon Se Hai Guzarish Bas Apne Ghar Me Raho.

 

घर में रहो शायरी इन हिंदी
घर में रहो शायरी इन हिंदी

मौत के हालात है, न किसी सफर में रहो,
लोगों से है गुजारिश बस अपने घर में रहो।

***********************

2- Dehleez Ke Andar, Apno Ki Nazar Me Raho,
Guzarish Hai Sabse, Ghar Me Raho.

 

घर में रहो शायरी इन हिंदी
घर में रहो शायरी

दहलीज के अंदर, अपनी की नजर में रहो
गुजारिश है सबसे, घर में रहो।

***********************

3- Khilti Thi Kali Aaj Jo Khili Hai,
Muddaton Baad Woh Fursat Me Mili Hai,
Udhade Sambandhon Ki TurPai Karo
Guzarish Hai Sabse, Ghar Me Raho.

 

घर में रहो शायरी
घर में रहो शायरी

 

खिलती थी कली आज जो खिली है,
मुद्दातों बाद वो फुरसत में मिली है,
उधड़े संबंधों की तुरपाई करो,
गुजारिश है सबसे, घर में रहो।

***********************

4- BhagaDaudi Mehnat Shohrat,
Naukar Chakar Gaadi Daulat
Samjha Ab Kuch Dhara Nahi
Apno Se Kuch Bada Nahi
Kyun Udate Ho Parindo Ki Tarah
Shakho, Darakhton , Shajar Me Raho,
Guzarish Hai Aapse, Apne Ghar Me Raho.

घर में रहो शायरी
घर में रहो शायरी

भागादौड़ी मेहनत शोहरत,
नौकर चाकर गाड़ी दौलत,
समझा अब कुछ धरा नही,
अपनो से कुछ बड़ा नही,
क्यों उड़ाते हो परिंदो की तरह,
शाखों, दरखतों, शजर में रहो,
गुजारिश है आपसे, अपने घर में रहो।

***********************

Top 5 Latest घर में रहो शायरी

1- Ghar Me Raho Kyunki Marrne Ke Baad ,
Koi Hindu Yaa Musalmaan Nahi Hoga
Kul Mare Kitne Bas Ye News Me Aakda Hoga.

घर में रहो शायरी
घर में रहो शायरी

घर में रहो क्योंकि मरने के बाद,
कोई हिंदू या मुसलमान नही होगा,
कुल मरे कितने बस ये न्यूज में आंकड़ा होगा।

***********************

2- Na Hindu Se Aaya Hai Ye,
Na Muslim Se Aya Hai,
Har Ek Jaati dharam Mazhab Par
Keher Corona Ne Dhaya Hai.

घर में रहो शायरी इन हिंदी
घर में रहो शायरी इन हिंदी

न हिंदू से आया है ये,
न मुस्लिम से आया है,
हर एक जाति धर्म मजहब पर,
कहर कोरोना ने ढाया है।

***********************

3- Na Hindu Se Aaya Na Muslim Se Aaya Isse Kisi Se Jodo Na Tum,
Raho Surakshit Apne Ghar Me Dhairya Ka Dhaga Todo Na Tum.

न हिंदू से आया न मुस्लिम से आया इससे किसी से जोड़ो न तुम,
रहो सुरक्षित अपने घर में धैर्य का धागा तोड़ो न तुम।

***********************

4- Hua Corona Tujhko Toh Tu Kiske Dar Me Jayega,
Na Baba Na Koi Maulvi Aakar Tujhe Bachayega.

घर में रहो शायरी इन हिंदी
घर में रहो शायरी इन हिंदी

हुआ Corona तुझको तो तू किसके दर में जायेगा,
ना बाबा ना कोई मौलवी आकर तुझे बचाएगा।

***********************

5- Aayi Hai Is Duniya Me Bimari,
Tum Isse Daro Na,
Bahar Niklo Na,
Ghar Par Hi Raho Na.

आई है इस दुनिया में बीमारी,
तुम इससे डरो ना,
बाहर निकलो ना,
घर पर ही रहो ना।

***********************

घर में रहो Poem

Sukoon Ki Chhat Ke Neeche
Rishton Ki Deewaron Ke Peeche
Apnatv Ke Dalaan Me
Mamatv Ke Jahan Me
Nafraton Se Door
Mohabbaton Ke Jahan Me,
Guzarish Hai Aapse, Ghar Me Raho.
Mila Hai Toh Use Karo,

Options Bahut Hai Choose Karo,
Apne Sapno Ko Aakaar Do,
Adhoore Kamon Ko Nikhar Lo,
Hunar Ko Apne Aawaz Do
Gar Hai Pankh To Parwaaz Do,
Zyada Samay Nahi Hai, Haskar Nikaal Lo,
Shauk Nahi Hai Agar Toh Paal Lo,
Khushhali Ke RehGuzar Me Raho,
Guzarish Hai Aapse, Ghar Me Raho.

Mudda Ye Nahi Hai, Ke Khatre Me Woh Hai Jinhe Koi Symptom Hai,
Ya Sirf Bacche, Ya Budhe Hai, Unhi Ke Liye Kharab Situation Hai.
Mudda Ye Hai Ke Gaye Bahar Toh Vipda He Lekar Aaoge,
Jaane-Anjaane Me Na Jaane Kitno Ko Infect Kar Jaoge.
Halaat Agar Bekaabu Hue Toh Aspataal Bhar Jayenge,
Sarkar Prashashan Kuch Na Kar Payenge.
Ilaaj Agar Na Mile Toh Ghatak Hai Halka Sa Bukhar Bhi,
Behaal Hui Sthiti To Bhatkoge Dar-Badar.
Jahan Ho, Jaise Bhi, Jo Bhi Karo,
Ruk Jao, Apno Ki Nazar Me Raho
Guzarhish Hai Aapse, Ghar Me Raho.

सुकून की छत के नीचे
रिश्तों की दीवारों के पीछे
अपनत्व के दालान में
ममत्व के जहान में
नफरतों से दूर
मोहब्बतों के जहान में,
गुजारिश है आपसे, घर में रहो,
मिला है तो उसे करो,

ऑप्शंस बहुत है चूज करो,
अपने सपनो को आकार दो,
अधूरे कामों को निखार लो,
हुनर को अपने आवाज दो,
गर है पंख तो परवाज दो,
ज्यादा समय नहीं है, हसकर निकाल लो,
शौक नहीं है अगर तो पाल लो,
खुशहाली के रेहगुजर में रहो,
गुजारिश है आपसे, घर में रहो।

मुद्दा ये नही है, के खतरे में वो है जिन्हे कोई सिम्पटम है,
या सिर्फ बच्चे, या बूढ़े है, उन्ही के लिए खराब सिचुएशन है,
मुद्दा ये है के गए बाहर तो विपदा ही लेकर आओगे,
जाने अनजाने में ना जाने कितनो को इंफेक्ट कर जाओगे,
हालात अगर बेकाबू हुए तो अस्पताल भर जायेंगे,
सरकार प्रशासन कुछ ना कर पाएंगे,
इलाज अगर ना मिले तो घटक है हल्का सा बुखार भी,
बेहाल हुई स्तिथि तो भटकोगे दर बदर,
जहां हो, जैसे भी, जो भी करो,
रुक जाओ, अपनो की नजर में रहो,
गुजारिश है आपसे, घर में रहो।

Read This Also –

बेस्ट Top {50+} Latest सुविचार स्टेटस इन हिंदी

13 Best कच्चे मकान शायरी

Best 11 Life Insurance Quotes

Top 10+ Best बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन | बेरोजगारी पर कविताएं |