Top 10+ Best बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन | बेरोजगारी पर कविताएं |

बेरोजगारी गरीबी भूख जैसे बहुत से मुद्दे अब भी भारत में कायम है जिसमें शायरों कवियों की नजर इन मुद्दों से अछूती नहीं रही है बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन |बेरोजगारी पर कविताएं |

शायरी की दुनिया में सिर्फ मयकशी मोहब्बत तक सीमित नहीं रही है,

इससे तर शायरों के काव्य में दुनिया के दुख सुख बसते हैं मानवीय पहलुओं पर शायरों की उन संवेदना में गहरे उतरते हुए अपनी कलम चलाई है आइए पढ़ते हैं बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन |बेरोजगारी पर कविताएं |

 

5 best बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन

1- मोदी सरकार तुम रोजगार दो युवा की परवाह करो

2- कब तक बेरोजगारी से जूझते रहेंगे दर-दर यूं ही भटकते रहेंगे

3- रोजगार हो युवा के पास यही है सब घर की सरकार से आस

4- सरकार तुम प्रयत्न करो बेरोजगारी को खत्म करो

5-तड़पना क्या होता है अगर यह जानना है तो ,
उस सरकारी नौकरी के लिए लड़ रहे,
बेरोजगार से पूछ लीजिए साहब
इश्क में तड़पना भूल जाएंगे

 

बेरोजगार का दर्द कविता

हाँ नौकरी मिल जाए तो अच्छा नही मिले तो बहिषकार ,
हाँ हमारे समाज के हैं वो लोग जो अब भी हैं बेरोज़गार

आशाएं बहुत है हमारी भी पर सुनना कौन चाह्ता है,
सपने हैं हमारे भी बहुत पर उन्हे बुन्ना कौन चाह्ता है ,

काश हमारे पास भी होती एक लम्बी कार ,
यूं मीलों तक पैदल नहीं चलना पड़ता मेरे यार,

एक एक रुपये बचाने के लिए नहीं सहना पड़ता भूख का अत्याचार ,
ये आया हमारे हिस्से बस इसलिए क्योंकि हम बेरोजगार हैं यार ,

आठ घन्टे काम करते लेकिन फिर भी नहीं भरता मन हमारा
क्योंकि घर की टपकती छत ने छीन रक्खा है चैन हमारा,
न जाने कब बरसेंगी हमपे भी रहमत उपरवाले की
जाने कब करम देख हमें जानेगा जग सारा

बच्चे भी देखते हैं कि कब आयेगा अनाज और कब जलेगा चूल्हा हमारा,
क्यूँ अगर कोई महमान आ जाए तो क्यूँ नही आना चाह्ता दुबारा

मरें भी तो कहाँ मरे एक तरफ है खाई तो दुसरी तरफ है किनारा,
हाँ जिन्दगी ने भी हमे कुछ ऐसे है धितकारा
मरकर भी न मर सका वो बेरोज़गार बेचारा

इसी बेरोज़गारी ने छीना बचपन हमारा
देख रंगत ज़माने की आंखों में है लहू खारा खारा

आख़िर क्यों हुआ वो इतना मजबूर
जो बनना पड़ा उसे बाल मज़दूर

देख के हालात घर के छोड़ी उसने पढ़ाई
आख़िर घर चलाने का इक ज़रिया बचा कमाई

खेलने कूदने की उमर में, उसने ईंटें तक उठाई
बस इसी को तो कहते हैं बेरोज़गारी मेरे भाई।।

देख के हाल ज़माने के, आज दिल मेरा रोया है
कोई बर्बाद कर रहा अनाज, तो कोई भूखा रात सोया है
अमीर होता ही गया अमीर और ग़रीब आज भी गुमनाम खोया है
इस बेरोज़गारी ने मेरा रोम रोम भिगोया है

कोई दाने दाने का मोहताज़ है,
तो किसी के सर पे ताज है
साथ दो फ़कीरों का भी
गर तुम में थोड़ी भी लाज है

इस बेरोज़गारी की वजह से बनता रिश्ता टूट जाता है
समधी पहले पूछते हैं लड़का कितना कमाता है

क्यों गरीबों को अच्छी नौकरी नहीं मिलती
क्यों उसकी डिग्री छोड़, उसकी हैसियत देखी जाती है
कैसे बढ़ी ये बेरोज़गारी?
क्यों गरीबों की बेटियां कवारी रह जाती है

कुछ तो हल करना होगा हमें इस बीमारी का
अंत करना होगा यारों, हमें बेरोज़गारी का

देख के माहौल आज
‘अम्बर’ भी रोया संग ‘रंगा’ के
क्यों है इस ज़माने पे राज अत्याचारी का।।

बेरोजगार युवा शायरी

उसे माँगा था हजारो बार ऐसे
काम चाहता हो बेरोजगार जैसे !!

बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन
बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन

****************

इश्क़ रोजगार है,,,

बेरोजगार युवा का …

बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन
बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन

****************

कहने को तो ज़िंदगी गुलज़ार है,
हाथो में चाय और हम बेरोजगार युवा है। ।

बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन
बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन

****************

ऑनलाइन आशिकों👨 को बेरोजगार ना समझो…
.
गर्लफ्रेंड,👩 ढूंढना भी एक तरह का रोजगार ही है
😁😁😂😂😛😛

****************

इश्क तो काम है
बेरोजगार लोगों का…
जिनकी नौकरी नहीं लगती
वो दिल लगा लेते है….
😊😊😊

****************

मौसम ने आशिक़ बना दिया

वर्ना हम भी बेरोजगार थे अव्वल दर्जे के !! 😌

****************

बेरोजगारी सरकार पर कविता

जिधर देखो उधर इश्क के बीमार बैठे हैं
😒😒😒😒😒😒😒😒😒😒
लाखों मर गए हजारों तैयार बैठे हैं
😍😍😍😍😍😍😍😍😍😍
साले बर्बाद होते हैं लड़कियों के चक्कर में
😢😢😢😢😢😢😢😢😢😢😢
और कहते हैं मोदी सरकार की वजह से
हम बेरोजगार बैठे हैं
😂😂😂😂😂😂😂😂

बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन
बेरोजगारी की समस्या पर स्लोगन

****************

Read This Also – Best 35+ Ansh Pandit Tik Tok Shayari , Status in Hindi

Top 20+ Latest Tujhe Dekhna Shayari in Hindi | तुझे देखना शायरी |

बेरोजगारी की समस्या पर कविता

किसी के हिस्से में बोनस आया
किसी के हिस्से में मिठाई आई

मैं था एकदम बेरोजगार
मेरे हिस्से में घर की सफाई आई

बेरोजगारी पर कविताएं
बेरोजगारी पर कविताएं

****************

सांप बेरोजगार हो गए,
अब आदमी काटने लगे,,,
कुत्ते क्या करें?
तलवे अब आदमी चाटने लगे ,,,!

बेरोजगारी पर कविताएं
बेरोजगारी पर कविताएं

****************

हाथ लगाने की औक़ात ना थी किसी की..

मेरी बेरोजगारी ने हीं खींच-खींच के तमाचे मारे मुझे..!!💔😒

****************

तुम ठहरी सरकारी नौकरी जैसी
और मैं ठहरा बेरोजगार
जितना शिद्दत से चाहा तुम्हे
उतनी ही शिद्दत से ठुकराया तुमने।

****************

बेरोजगारी शायरी इन हिंदी

लैला नही थामती अब किसी बेरोजगार का हाथ

मजनूं को अगर इश्क है तो कमाने लग जाए

****************

मोहब्बत तो बेरोजगारी में होता है
नौकरियां देखकर तो शादियां होती है..!!

****************

आजकल बेरोजगार बैठे हैं,

कहो तो तुमसे मोहब्बत कर लें,,

****************

कुछ लोग Whatsapp Group  मे ऐड होने के बाद इतने खुश होकर

थैंक्यू बोलते है…

जैसे बेरोजगारो को सीधे सरकारी नौकरी मिल गई हो…

और फिर नाकारा होकर बैठ जाते हैं

****************

*उस लड़के का दुख तुम क्या समझोगे __*

*जिसे मोहब्बत हो जाए और वो , बेरोजगार हो*

****************

वो इश्क़ करना चाहती हैं हमसे..

कोई बताये उन्हें बेरोजगार हैं हम ।।

मोहब्बत और बेरोजगारी पर कविताएं

हाय ये मोहब्बत और मेरी ये बेरोजगारी,
मै आवारा लड़का गांव का वो मैडम सरकारी।

खुली काली जुल्फे उसकी,
आंखे उसकी गिद्ध जैसी शिकारी।

चाह कर भी कुछ कह ना सकू मै उसे,
हाय मेरे दिल की ये लाचारी।

किस तरह मेल हो अब हमारा मै सोच रहा,
मै लकड़ा 24 का वो 36 बरस की नारी।

उम्र पढ़ने की और मै इश्क पढ़ रहा,
हाय ये कैसी लगी मुझको इश्क बीमारी।

जब मै उसकी नजरों से नजर मिलता,
डर लगता यही सोचकर बिना कसूर हो ना जाए गिरफ्तारी।

Read This Also

Best 30 Latest सरकारी नौकरी स्टेटस, Quotes, shayari in Hindi

New 15+ Best पॉलिटिशियन शायरी इन हिंदी

Top 50+ Best Life Instagram Quotes, Status Captions

Best 90+ Latest Vivek Bindra Motivational Quotes in Hindi