Best 20+ Latest रिश्ते निभाने पर शायरी

रिश्ते निभाने पर शायरी

कोई पूछे तो वो कह देते हैं –

उसके साथ छोड़ जाने की वजह है कि वो बता कर न गया,


निभाने को तो हम भी निभाते पर हमसे उन्हें रोका न गया।

रिश्ते निभाने पर शायरी
रिश्ते निभाने पर शायरी

******************

कहते हैं मां–बाप का प्यार ही है केवल जो मुफ्त में मिलता है,
जब पालने की कीमत चुकानी पड़े तो रिश्तों में ज़हर घुलता है।

रिश्ते निभाने पर शायरी
रिश्ते निभाने पर शायरी

Read This Also – Best & Latest 500+ New Hindi Shayari | हिंदी शायरी |

******************

कोई दूसरा घर तोड़ जाए तुम्हारा तो हर्ज उन्हें क्या होगा,
अपनों ने ही नहीं समझा तुम्हें अपना तो शिकवा गैरों से क्या होगा।

******************

भावनाओं का बना कर मजाक, फरेबी कह कर किया हमें बदनाम,
दौलत में उलझे सौतेले रिश्ते, ज़माने से छुपे हैं निभाने वालों के नाम।

******************

लगी है भीड़ छोड़ जाने वालों की,
खोज है केवल रोक लेने वालों की।

******************

कहते हैं रिश्ते अपने हों तो खून को खून से कोई दूर नही कर सकता,
देखा है मैने अपनाए हुए रिश्ते को मेरे अपनों से मुझे दूर करते हुए।

******************

परिवार हो मजबूत तो दुश्मन भी तुम्हें मार नहीं सकते,
जानेंगे दूसरे भी एक दिन जो अपने नही जान सकते।

******************

बहकावे में आ जाते है जो लोग, बातें मान कर दूसरों की,
सच और झूठ को जानते नहीं और खो देते हैं खुशियां अपने हिस्से की।

******************

जमीन के टुकड़े न करो इसे तुम ही रख लो,
मां का प्यार बांटूंगा नही चाहे बदले में मेरा ईमान रख लो।

******************

प्यार को तरसा है कोई तो कहीं जिंदगियां मज़ाक बनीं,
परखने में गवां दिया समय, अपनों की ज़ुबान बनीं।

******************

जब जब मिट्टी ने घर की छत बनने की कोशिश की है,
तब तब दीवारों को अपनी मासूमियत खोनी पड़ी है।

******************

 

Rishte Nibhane Par Shayari

******************

कोई दिल से निभाए अगर रिश्ता तो उसे क्या सज़ा दी जाए,
रिश्तों को शतरंज बना खेल कर दिलों को मात दी जाए।

रिश्ते निभाने पर शायरी
रिश्ते निभाने पर शायरी

******************

प्यार बांटने वाले कम हैं मिलते इन्हें खो न देना,
अहम पाल कर रिश्तों को बिखरने न देना।

रिश्ते निभाने पर शायरी
रिश्ते निभाने पर शायरी

******************

बड़े संजीदा होकर हम रिश्ते निभाए जा रहे थे,
लोग बड़ी चालाकी से हमें आजमाए जा रहे थे।

******************

कौन परवाह है उन परिंदों को जिन्हें उड़ा दिया जाता है,
प्यार उन्हें करते हैं जिन्हें पिंजरे में महफूज़ रखा जाता है।

******************

काश अपने कहलाने वाले रिश्ते भी नोट की तरह होते,
नकली हैं या असली रोशनी में देख के पता कर लेते।

******************

सांसों के चलते तक निभाए हुए रिश्तों को तकलीफ महसूस होगी हमसे जनाब,
हमें यकीन है मरने के बाद तो हमसे अच्छा कोई न होगा।

******************

तुम्हें मतलब की बात समझ जल्दी आती होगी,
तुम्हारी बात का मतलब समझ कर देखा है।

******************

छीन कर खुशियां, गम देने वालों को सलाम
अपनों के भेस में, नफ़रत देने वालें हैं तमाम।

******************

ये दुनिया है साहब, यहां साफ़ दिल वालों में दाग़ ढूंढा जाता है
और पैसे वाले खूबसूरत चेहरे में छल भी चला लिया जाता है।

******************

Latest Top 100+ Sayari On Love |Romantic|Sad|Bewafa| In Hindi

Best Shayari Aakhon Par : आंखों पर शायरी